आदरणीय मलूकदास जी कहते हैं कि परमेश्वर कबीर जी मगहर से सशरीर सतलोक गए। जपो रे मन सतगुरु नाम कबीर। काँशी तज गुरु मगहर आये

आदरणीय मलूकदास जी कहते हैं कि परमेश्वर कबीर जी मगहर से सशरीर सतलोक गए।
जपो रे मन सतगुरु नाम कबीर।
काँशी तज गुरु मगहर आये, दोनों दीन के पीर।
कोई गाड़े कोई अग्नि जरावै, ढूंडा न पाया शरीर।
चार दाग से सतगुरु न्यारा, अजरो अमर शरीर।

2 Likes

Jay shree ram

सत् साहेब